Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

माँ की दुआ - Mother's Day Shayari


"माँ" की एक दुआ जिन्दगी बना देगी,

खुद रोएगी मगर तुम्हे हँसा देगी...

कभी भुल के भी ना "माँ" को रूलाना,

एक छोटी सी गलती पूरा अर्श हिला देगी...




“MAA” ki ek DUA zindagi bana degi

Khud roy gi magar tume hansa degi

Kahi bhool k bhi na “MAA” ko rulana

aik choti si ghalti poora Arsh hilla degi

Comments

  1. आपने हिंदी में जिन पंक्तियों को उतरा है वो ठीक नहीं हैं...अशुद्ध हिंदी रोमन में पढने से अधिक तकलीफ देती है...

    "माँ" की एक दुआ जिन्दगी बना देगी,
    खुद रोएगी मगर तुम्हे हँसा देगी...
    कभी भूल के भी ना "माँ" को रूलाना,
    एक छोटी सी गलती पूरा अर्श हिला देगी.

    अर्श=आकाश

    ReplyDelete
  2. सुझाव देने के लिए धन्यावाद....

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular Posts