Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

माँ तेरी याद - Maa Teri Yaad


माँ तेरी याद सताती है, मेरे पास आ जाओ,

थक गई हुँ, मुझे अपने आँचल में सुलालो....

उँगलीयाँ अपनी फेर कर बालों मे मेरे,

एक बार फिर से बचपन की लोरीयाँ सुनाओ..




Maa Teri Yaad Satati Hai, Mere Paas Aa Jaao

Thak Gayi Hoon, Mujhe Apne Aanchal Main Sulao

Ungliyaan Apni Pher Kar Baalon Main Mere

Ek Baar Phir Se Bachpan Ki Loriyaan Sunaao !!!

Comments

Popular Posts