03 August, 2010

कश्ती तुफानो से


कश्ती तुफानो से निकल सकती है..

तकदीर किसी भी वक्त बदल सकती है..

होसला रखो इरादा ना बदलो..

जिसे दिल से चाहते हो.वो चीज कभी भी मिल सकती है

 


Kasti tufano se nikal sakti hai...

Taqdeer kisi bhi wakat badal sakti hai,

hosla rakho iraada na badlo...

jise dil se chahate ho wo chij kabhi b mil sakti hai.

1 comments: