Posts

Showing posts from August, 2010

लाला जी

आपकी यादों ने

संता - बंता

अपनी आँखो की

शायद ये वक्त

जय हिन्द

हमारी महफिल को

चाँद है आप

ਜੇ ਦਿੰਦਾ ਨਾ ਅਖਿਆਂ

Opss......What's New

कश्ती तुफानो से