09 July, 2010

तुझ पर खत्म


तुझ पर खत्म सारी चाहत होगी..

फिर ना किसी पे इनायत होगी..

कुछ इस तरह से करुगाँ याद तुझको..

ना तुझे खबर होगी ना जमाने को शिकायत होगी..

0 comments

Post a Comment