15 May, 2010

बन्द आँखों में

बन्द आँखों में बस सपने होते हैं..

दुनीया में बहुत कम लोग अपने होते है..

अपने ही जब भूल जाते हैं तो लगता है..

सपने-सपने तो बस सपने होते हैं...

1 comments:

  1. सपने तो बस सपने ही होते हैं

    ReplyDelete