28 मई, 2010

हमें अशकों से


हमें अशकों से जख्मों को धोना नही आता...

मिलती है खुशी तो उसे खोना नही आता...

सह लेते है हर गम हँस के..

और लोग कहते हैं कि हमे रोना नही आता...



0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें