01 मार्च, 2010

रिश्ते तो बनते हैँ



रिश्ते तो बनते हैँ ऊपर वाले की दुनीया में..

हम तो सिर्फ निभाना जानते हैं..

पता नही दूसरे जन्म के बारे में..

पर दोस्ती आपकी हर जन्म में पाना चाहते हैं

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें