15 February, 2010

दोस्ती के वादे



दोस्ती के वादे को यूँही निभाते रहेंगे

हम हर वक़्त आप को सताते रहेंगे

मर भी जाएं तो कोई गम न करना

हम आँसू बनकर आपकी आँखों में आते रहेंगे

1 comments: