15 February, 2010

खामोशी में हमे



खामोशी में हमे हर अदा प्यारी लगी,

आपकी दोस्ती हमे सबसे न्यारी लगी,

खुदा से दुआ है न टूटे ये दोस्ती,

क्योंकि ज़हां में यही चीज़ है जो हमे हमारी लगी........

0 comments

Post a Comment