20 January, 2010

रुलाना हर किसी को



रुलाना हर किसी को आता है..

हसाना किसी-किसी को आता है..

रुला के जो मना ले.. वो सच्चा यार है..

और जो रुला के खुद भी आँसु बहाऐ..

वो आपका सच्चा प्यार है..

0 comments

Post a Comment