05 जनवरी, 2010

नज़रों को नज़रों की



नज़रों को नज़रों की कमी नहीं होती,

फुलो को बहारों की कमी नही होती,

फिर क्यों हमें याद करोगे आप,

आप तो आसमान हो और ...

आसमान को सितारों की कमी नहीं होती..

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें