27 नवंबर, 2009

तेरी दोस्ती



तेरी दोस्ती हम इस तरह निधायेंगे..

..तुम रोज़ खफा होना

.....हम रोज़ मनायेंगे

पर मान जाना मनाने से

वरना यह भीगी पलकें ले के कहा जायेंगे..

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें