21 नवंबर, 2009

इतना प्यार पाया है



इतना प्यार पाया है आप से...
उस से ज्यादा पाने को जी चाहता है...
नजाने वो कौन सी खूबी है आप में.
की आप से दोस्ती निभाने को जी चाहता है.

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें