22 अक्तूबर, 2009

तुझे देखे बिना



तुझे देखे बिना तेरी तस्वीर बना सकता हूँ,

तुझसे मिले बिना तेरा हाल बता सकता हूँ,

है मेरी दोस्ती में इतना दम,

अपनी आँख का आँसू तेरी आँख से गिरा सकता हूँ

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें