04 सितंबर, 2009

तुम को भुला ना सके



नज़र तो मिला सके..

पर जुबां ना हिला सके..

लाख चाहा हमने...

पर तुम को भुला ना सके..

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें