06 July, 2009

कोई तैयार नही

हम तो दिल देने को तैयार बैठे है,

दर-दे महोब्बत करने को तैयार बैठे है,

पर हाय रे मेरी फुटी किसमत,

कोई दिल लेने को ही तैयार नही

0 comments

Post a Comment