30 जुलाई, 2009

चाँद अधुरा है




चाँद अधुरा है सितारो के बिना,

गुलशन अधुरा है बहारो के बिना,

समुँदर अधुरा है किनारो के बिना,

जिना अधुरा है तुम जैसे यारो के बना ।

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें