03 जुलाई, 2009

तेरी जुदाई से डरता हुँ




जमाने से नही तो तनहाई से डरता हुँ,

प्यार से नही तो रुसवाई से डरता हुँ,

मिलने की उमंग बहुत होती है,

लेकिन मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरता हुँ ।

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें