04 May, 2009

उन्हे यकीन नही..

उन्हे यकीन नही.. मगर ये सच है,
हम उनके लिऐ उमर गुजार सकते हैं,
यही नही की उनको जितने की ख्वाहीश है,
हम उनके लिऐ खुद को हरा सकते है

0 comments

Post a Comment