29 अप्रैल, 2009

सामने आना छोड दिया

हम ने उनके सामने आना छोड दिया,
अपनी चाहत को जताना छोड दिया,
क्योकि जिनकी हंसी पर मरते थे हम,
उन्होने हमे देख कर मुस्कुराना छोड दिया ।

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें