19 अप्रैल, 2009

इरादे बदल जाते हैं

उमर की राह मे रस्ते बदल जाते हैं,
वक्त की आंधी में इन्सान बदल जाते हैं,
सोचते हैं तुम्हें इतना याद न करें,
लेकिन आंखें बंद करते ही इरादे बदल जाते हैं

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें