22 April, 2009

आप की निगाहें

जब आसमान गरजता होगा,
तो मौसम भी अपना रंग बदलता होगा,
जब उठती होगी आप की निगाहें,
तो खुदा भी गिर गिर कर संभालता होगा ।

0 comments

Post a Comment