02 December, 2018

उतर गया - Mukamal Ishq Shayari

उतर गया जो समंदर में वही लाता है  मोती, साहिल पे खड़े होके कौन पाता है हिचकियाँ इतनी सुबह से ही आज उठने लगी  लगता है मेरी गज़ल कोई गुनगुन...

01 December, 2018

हम खाक-ए-जमी - Sad Shayari

हम खाक-ए-जमी होकर के एक चाँद की हसरत कर बैठे वो चीज बहुत ही ऊंची थी हम जिससे मोहब्बत कर बैठे

26 November, 2018

हवा में यूँ - Love Sad Shayari

हवा में यूँ ही मैं सिक्का उछाल देता हूँ, जवाब दे दो मुझे, तुम्हें इक सवाल देता हूँ , गमों का मारा हुआ दर्द में मिला जो कुछ, उन्हें पिरो क...

21 November, 2018

तेरे सीने से - Love Shayari

तेरे सीने से लग कर तेरी आरजू बन जाऊँ, तेरी सांसों से मिलकर तेरी खुशबू बन जाऊँ, फासले न रहें कोई हम दोनों के दरम्यान, मैं, मैं न रहूँ बस त...

16 November, 2018

तेरी दोस्ती - Bewafa Shayari

तेरी दोस्ती ने दिया सकूं इतना  की तेरे बाद कोई अच्छा न लगे  तुझे करनी है बेवफ़ाई तो इस अदा से कर  कि तेरे बाद कोई भी बेवफ़ा न लगे।

13 November, 2018

कहीं दिन उगा - Safar Shayari

कहीं दिन उगा तो कहीं रात हो गयी, कभी कुछ न बोले, कभी बात हो गयी, कहीं दूर तलक न साये दिखे, कहीं दूर सफर तक साथ हो गयी, कभी डरती डरती चली ...

क्यूँ किसी से - Love Shayari

क्यूँ किसी से इतना प्यार हो जाता है, एक दिन का भी इंतजार दुश्वार हो जाता है, लगने लगते है अपने भी पराए, जब एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है। ...

11 November, 2018

नजरों को - Intzaar Shayari

नजरों को तेरे प्यार से इंकार नहीं है, अब मुझे किसी और का इंतज़ार नहीं है, खामोश अगर हूँ मैं तो ये वजूद है मेरा तुम ये न समझना कि तुमसे प्य...