13 अगस्त, 2017

मुकम्मल है इबादत

Happy Independence Day Shayari
मुकम्मल है इबादत और मैं वतन ईमान रखता हूँ,
वतन के शान की खातिर हथेली पे जान रखता हूँ !!
क्यु पढ़ते हो मेरी आँखों में नक्शा पाकिस्तान का ,
मुस्लमान हूँ मैं सच्चा, दिल में हिंदुस्तान रखता हूँ !!

0 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें