19 July, 2016

मुझे फिर तबाह कर - Ishq Mein Fanah

मुझे फिर तबाह कर - Ishq Mein Fanah
मुझे फिर तबाह कर मुझे फिर रुला जा
सितम करने वाले कहीं से तू आजा
आँखों में तेरी ही सूरत बसी है
तेरी ही तरहा तेरा ग़म भी हंसीं है

0 comments

Post a Comment