13 May, 2016

ऐ मेरी जिन्दगी - Love Shayari

Love Hindi Shayari - Ae Meri Zindagi
ऐ मेरी जिन्दगी यूँ मुझसे दगा ना कर,
उसे भुला कर जिन्दा रहू दुआ ना कर,
कोई उसे देखता हैं तो होती हैं तकलीफ,
ऐ हवा तू भी उसे बार-बार छुआ ना कर ।।

2 comments:

  1. मैं आपके बारे में सिर्फ़ इतना ही कहना चाहूँगी की आपकी लेखन कला काफ़ी उत्कृष्ट है जो कि इस शायरी से झलकती है| आप बस ऐसे ही लिखते रहे और हम यहाँ बार-बार आते रहेंगें|
    धन्यवाद!

    ReplyDelete