14 September, 2015

जख्म बन जाने की - Love Shayari

Jakham - Love Shayari
जख्म बन जाने की आदत है उसकी,
रूला कर मुस्कुराने की आदत है उसकी,
मिलेगें कभी तो खूब रूलाएगें उसको,
सुना है रोते हुए लिपट जाने की आदत है उसकी..!!