Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

Kismat Ne Jaisa Chaha

Shayari for Dhokha in Love
किस्मत ने जैसा चाहा वैसे ढल गए हम ,
बहुत संभल के चले फिर भी फिसल गए हम ,
किसी ने विश्वास तोडा तो किसी ने दिल ,
और लोगो को लगा की बदल गए हम ...

Comments

Post a Comment

Popular Posts