08 December, 2014

Mere Armano Ki Khatir - Love Shayari for You

मेरे अरमानों की खातिर, मुझ से दूर चले जाओगे
मेरी ज़िद ऐसी है क्या कि हो मजबूर चले जाओगे
प्यार किया था न तुमने तो अब इतनी जल्दी क्या
अपना पागलपन छोडो, तुम क्या दूर चले जाओगे....