29 January, 2013

दूर रह कर - Dur Rehkr Bhi

Love Shayari - Dur Reh Kar
दूर रह कर भी हमसे वास्ता रखना,
मुलाकात ना सही, पर बातों का सिलसिला रखना,
छु लो आसमाँ को तुम ये मेरी तमन्ना है,
पर हम तक वापस आने का रास्ता रखना।


Dur Rehkr Bhi Hmse Vasta Rakna,
Mulakat Na Sahi Par Bato Ka Silsila Rakna,
Chhu Lo Asmaa Ko Tum Ye Meri Tamanna Hai,
Par Hm Tak Vapas Aane Ka Rashta Rakhna.


3 comments: