10 November, 2012

दिवाली - Diwali Sad

diwali special sad shayari

बाग़ की बात माली ही समझे ........
फूल का दर्द झुकी डाली ही समझे....
क्या रीत बनाईं दुनिया वालों ने .............
दिए के दिल का जले और लोग उसे दीवाली समझे .

1 comments:

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://guruofmovie.blogspot.in/

    ReplyDelete