Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

होता नहीं मेहसुस - Hota Nahi Mehsoos

Hindi Shayari, Sad Shayari
होता नहीं मेहसुस दर्द आज तेरे जखमों का,
कयुँ आज तेरी तलवार की धार कमम है,
कुछ दे ऐसे जख्म आज  मुझको ..
क्युँ लगता है की आज तेरा प्यार कम है..

Hota Nahi Mehsoos Dard Aaj Tere Zakhmoon Ka,
Kyun Aaj Teri Talwar Ki Dhaar Kam Hai,
Kuch De Aise Zakhm Zalim Aaj Mujko,
Kyun Lagta Hai Ki Aaj Tera Pyar Kam Hai.

Comments

  1. देखे दुनिया के सबसे बेहतरीन ब्लॉग में से एक ब्लॉग http://guruofmovie.blogspot.in/

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular Posts