14 April, 2012

क्यों चुपके से वो - Kyu chupke se wo

क्यों चुपके से वो लोग उतर जाते हैं दिल में,
  जिनसे कभी किसमत के सितारे नहीं मिलते,
प्यार के भंवर में ये कह के छोड दिया,
  कि कभी नदियों के दोनो किनारे नहीं मिलते..



Kyu chupke se wo log utar jate hai dil me
  Jinse kabhi kismat ke sitare nahi milte
pyar ke bhawar me ye keh ke chhod diya
  ki kabhi nadiyo ke dono kinare nahi milte