Skip to main content

Featured

Uski Masrufiyat Mera Intzaar

सब उसकी., मसरूफियत में शामिल हैं...!! बस एक ., मुझ  बे-ज़रूरी के सिवा.....!! #Uski Masrufiyat 

ना जाने तुम - Na janay tum

ना जाने तुम पे इतना यकीन क्यों है?
तेरा ख्याल भी इतना हसीन क्यों है ?
प्यार का दर्द मिठा होता है...
तो आँख से निकला ये आँसु नमकीन क्यों हैं ?



Na janay tum pay itna yaqeen kion hay?
Tera khayal bhi itna haseen kion hay??
Pyar ka dard meetha hota hay...
to aankh say nikla yeh ansu namkin kion hay?

Popular Posts