02 February, 2012

ना जाने तुम - Na janay tum

ना जाने तुम पे इतना यकीन क्यों है?
तेरा ख्याल भी इतना हसीन क्यों है ?
प्यार का दर्द मिठा होता है...
तो आँख से निकला ये आँसु नमकीन क्यों हैं ?



Na janay tum pay itna yaqeen kion hay?
Tera khayal bhi itna haseen kion hay??
Pyar ka dard meetha hota hay...
to aankh say nikla yeh ansu namkin kion hay?